टाइप 2 मधुमेह की मुख्य बातें Main Points Of Type 2 Diabetes

Main Points Of Type 2 Diabetesमधुमेह एक आजीवन बीमारी है। इस बीमारी में रोगी के शरीर में ग्लूकोज ( एक प्रकार की चीनी) रोगी के खून मे मिल जाती है। यदि किसी के साथ ऐसा हो रहा हो तो इस स्थिति वाले अधिकांश लोग टाइप-2 के रोगी होते है। टाइप-2 के रोगी यू.एस.ए. में लगभग 27 लाख हैं। टाइप-2 मधुमेह के 86 लाख रोगी पूर्वोत्तर मे हैं जिनका रक्त ग्लूकोज सामान्य नहीं है।

मधुमेह होने का मुख्य कारण Main Reason For Diabetes – हमारी पैनक्रिया इंसुलिन नाम का एक हार्मोन बनाती है। यह ग्लूकोज को ऊर्जा में बदल देता है। टाइप 2 मधुमेह वाले रोगी के अंदर इंसुलिन बनता हैं, लेकिन उनकी कोशिकाएं इसका उपयोग नहीं कर पाती हैं। सबसे पहले, पैनक्रिया कोशिकाओं में ग्लूकोज प्राप्त करने का कोशिश करने के लिए अधिक इंसुलिन बनाता है। लेकिन इंसुलिन काम नही कर पाता है और चीनी खून में मिल जाती है। आम तौर पर ऐसा कारण टाइप 2 मधुमेह के कारण होता है। जिसमें मुख्य कारण निम्न लिखित हैं-

जीन Jean –

वैज्ञानिकों ने डीएनए के विभिन्न बिट्स पाए हैं जिससे पता चलता है कि हमारे शरीर के इंसुलिन को जीन भी प्रभावित करते हैं।

अतिरिक्त वजन Excess Weight – मोटापा या अधिक वजन होने से इंसुलिन का समस्या हो सकता है। बचपन में मोटापा के कारण टाइप 2 मधुमेह बच्चों और किशोरों के साथ-साथ वयस्कों को भी प्रभावित करता है । इंसुलिन प्रतिरोध वाले लोगों में अक्सर उच्च रक्त ग्लूकोज, कमर के चारों ओर अतिरिक्त वसा, उच्च रक्तचाप, और उच्च कोलेस्ट्रॉल होता है।

यकृत से बहुत ज्यादा ग्लूकोज बनना Too Much Glucose From The Liver

जब किसी के शरीर से रक्त शर्करा कम होता है, तो आपका यकृत ग्लूकोज बनाता है और भेजता है। खाने के बाद, रक्त शर्करा बढ़ जाती है, और आमतौर पर जिगर धीमा हो जाता है और बाद में ग्लूकोज को स्टोर करता है। लेकिन कुछ लोगों के यकृत ऐसा नहीं करता हैं। ऐसे लोगों का यकृत चीनी को क्रैंकिंग करता रहता हैं। कोशिकाओं के बीच खराब संचार Bad Communication Between Cells

कभी-कभी शरीर द्वारा गलत सिग्नल भेजा जाता हैं। जब ऐसी समस्याएं प्रभावित होती हैं तो कोशिकाएं इंसुलिन या ग्लूकोज का उपयोग ठीक से नही कर पाती है। और यह प्रतिक्रिया मधुमेह का कारण बन जाती है।

यदि इंसुलिन बनाने वाली कोशिकाएं गलत समय पर इंसुलिन की गलत मात्रा भेजती हैं, तो हमारे रक्त मे शर्करा मिल जाती है। उच्च रक्त सर्करा भी इन कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है।

SBL Homeopathy Dibonil Drop For Diabetes

SBL Dibonil Drop मधुमेह के लिए होमियोपैथिक उपचार हैं। इस दवा का कोई दुष्प्रभाव नही है। SBL Dibonil Drop मधुमेह के लिए एक वैकल्पिक दवा है जो कोशिकाओं को रक्त शर्करा के स्तर को नियमित करने के लिए अधिक इंसुलिन उत्पन्न करने के लिए के लिए सहयोग करता है। Read More About SBL Dibonil Drop.

Share this post

Related Post

मोतियाबिंद क्य...

मोतियाबिंद आंख के सामान्य लेंस पर झिल्ली का बनना है। जिन लोगो को मोतियाबिंद हो जाता है, लेंस...

Read More

पेट में दर्द हो...

पेट दर्द का कई तरह के सामान्य कारण होते हैं, जैसे अपच होना या मांसपेशियों में खिंचाव होना...

Read More

वजन घटाने के सह...

वैज्ञानिकों ने शोध करके कई उपाय खोजा है जो वजन घटाने के लिए प्रभावकारी है। यहां कुछ सुझाव...

Read More