मोतियाबिंद क्या है What Is Cataract

What Is Cataractमोतियाबिंद आंख के सामान्य लेंस पर झिल्ली का बनना है। जिन लोगो को मोतियाबिंद हो जाता है, लेंस के ऊपर झिल्ली बनने से धूधला दिखता है जिससे पढ़ना, कार चलाना (विशेष रूप से रात में) या सामने खड़े व्यक्ति के चेहरे का अभिव्यक्ति देखना मुस्किल हो सकता है।

ज्यादातर मोतियाबिंद धीरे-धीरे विकसित होता हैं और आंखों के रोशनी को समय के साथ प्रभावित करता है। शुरू में अच्छा प्रकाश और चश्मा मोतियाबिंद से निपटने में सहयोग कर सकते हैं। लेकिन यदि दृष्टि खराब हो गयी हो और सामान्य गतिविधियों में समस्या हो रही हो, तो मोतियाबिंद सर्जरी का जरूरत हो सकता है। मोतियाबिंद का सर्जरी आमतौर पर एक सुरक्षित और प्रभावी प्रक्रिया है।

मोतियाबिंद के लक्षण Symptoms Of Cataract

मोतियाबिंद के लक्षणों में निम्नलिखित शामिल हैं:-

  • दृष्टि धुंधला होना या देखने में कठिनाई होना
  • पढ़ने और अन्य गतिविधियों के लिए तेज रोशनी की आवश्यकता पड़ना
  • प्रकाश और चकाचौंध के प्रति संवेदनशील होना
  • रंगों का लुप्त होना, पीला पड़ना या फीका पड़ना।
  • चश्मा या कॉन्टैक्ट लेंस प्रिस्क्रिप्शन में बार-बार बदलाव होना
  • एक ही आंख में दृष्टि दोहरी होना

मोतियाबिंद के कारण शुरू में आंख के लेंस का केवल एक छोटा हिस्सा प्रभावित हो सकता है और प्रभावित व्यक्ति दृष्टि के जोखिम से अनजान हो सकता हैं। जैसे-जैसे मोतियाबिंद बढ़ता जाता है, यह लेंस पर अधिक बादल बना देता है और लेंस से गुजरने वाले प्रकाश को विकृत कर देता है।

चिकित्सक से कब दिखाना चाहिए When To See The Doctor

यदि दृष्टि में कोई परिवर्तन लगता हैं, तो अपने नेत्र का जांच करवाएं । यदि अचानक दृष्टि में परिवर्तन हो जैसे दोहरी दृष्टि या प्रकाश का चमक, अचानक आंखों में दर्द या सिरदर्द हो तो अपने चिकित्सक से तुरंत संपर्क करें।

मोतियाबिंद के कारण Reason Of Cataract

ज्यादातर मोतियाबिंद उम्र बढ़ने या आंख के लेंस को बनाने वाले ऊतक में चोट लगने से होता है। कुछ आनुवांशिक कारण होते है जो अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के कारण होते हैं, वे मोतियाबिंद के खतरे को बढ़ा सकते हैं। यदि कभी आंखों का सर्जरी हुआ हो या मधुमेह हो, तो भी मोतियाबिंद हो सकता है। लंबे समय तक स्टेरॉयड दवाओं के इस्तेमाल करने से भी मोतियाबिंद हो सकता है।

मोतियाबिंद कैसे बनता है How does cataract become

जहां मोतियाबिंद होता है, आंख (आईरिस) के रंगीन भाग के पीछे लेंस होता है। प्रकाश को लेंस केंद्रित करता है जो आंख में गुजरता है और रेटिना पर स्पष्ट छवियों का निर्माण करता है – आंख में प्रकाश-संवेदनशील झिल्ली जो एक कैमरे में फिल्म की तरह कार्य करती है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ता है, आँखों के लेंस का लचीलापन कम होने लगता है तथा कम पारदर्शी और मोटा होता जाता हैं। उम्र के बढ़ने से और अन्य चिकित्सा स्थितियों के वजह से लेंस के भीतर का ऊतक टूट जाते हैं और आपस में टकराते हैं, तथा लेंस के भीतर के क्षेत्रों को घेरते हैं।

जैसे-जैसे लेंस के ऊपर मोतिया का बादल घना होता जाता है वैसे-वैसे मोतियाबिंद बढ़ता जाता है, और लेंस का ज्यादातर हिस्सा प्रभावित होता है। मोतियाबिंद का निशान प्रकाश को अवरुद्ध कर देता है क्योंकि यह लेंस से गुजरता है, जो रेटिना तक पहुंचने से छवि को रोकता है। फलस्वरूप दृष्टि धुंधली हो जाती है।

आम तौर पर मोतियाबिंद दोनों आंखों में विकसित होता है, लेकिन समान रूप से विकसित नहीं होता है। एक आंख का मोतियाबिंद दूसरे आंख की तुलना में अधिक विकसित हो सकता है, जिस वजह से आंखों के बीच दृष्टि में अंतर होता है।

Homeopathic Eye Drops For Cataract – मोतियाबिंद के लिए Cineraria Maritima10% Eye Drops बहुत प्रभावकारी दवा है। यह मोतियाबिंद और आंख की अन्य समस्या या संक्रमण को रोकने में मदद करता है। अधिक जानकारी के लिए Click करें।

Share this post

Related Post

पेट में दर्द हो...

पेट दर्द का कई तरह के सामान्य कारण होते हैं, जैसे अपच होना या मांसपेशियों में खिंचाव होना...

Read More

वजन घटाने के सह...

वैज्ञानिकों ने शोध करके कई उपाय खोजा है जो वजन घटाने के लिए प्रभावकारी है। यहां कुछ सुझाव...

Read More

मधुमेह से होने ...

गुर्दे की जटिलता Kidney Complexity जितना ज्यादा मधुमेह होगा, क्रोनिक किडनी रोग होने का संभावना उतना ही अधिक...

Read More